What is linux command । लिनक्स कमांड क्या है।

Linux commands


 यह ऑपरेटिंग सिस्टम ग्राफिकल Approach और कमांड बेस पर मुख्य रूप से वर्क कर आता है इसकी मुख्य कमांड निम्न प्रकार हैं|

1 CD  

Directory को चेंज करने के लिए इस कमांड का यूज करते हैं|

CH mod ( Chang mode )

 लाइनेक्स ऑपरेटिंग सिस्टम में इन कमांड का यूज फाइल परमिशन को चेंज करने के लिए किया जाता है|

Clear 

स्क्रीन को क्लियर करने के लिए इस कमांड का यूज करते हैं|

MKDIR 

इस कमांड का यूज़ फाइल डायरेक्टरी को ऐड करने के लिए करते हैं|

CAT

 एक कमांड का न्यूज़ फाइल कंटेंट को प्रदर्शित करने केेे लिए किया जाता है|

DATE

 इस कमांड का यूज़ सिस्टम में Date को प्रदर्शित करने के लिए किया जाता है|

CHOWN (Chang owner ship)

  PWD (Path Working Directory) इस कमांड का यूज़ करंट वर्किंग के Path को प्रदर्शित करनेे के लिए किया जाता है|

PWD (Path working directory)

 इस कमांड का यूज करंट वर्किंग के path को प्रदर्शित करने के लिए किया जाता है |

LS(List)

 इस डायरेक्टरी तथा फाइल Structure को देखने के लिए यह कमांड यूज की जाती है|

 * KERNEL TASK*

1 Memory Manegment कर्नल के द्वारा मेमोरी मैनेजमेंट का कार्य लाइनेक्स ऑपरेटिंंग सिस्टम में कंप्यूटर की speed को मैनेज करनेेेे से होता है |

2.Process Menegement लाइनेक्स ऑपरेटिंग सिस्टम में प्रोसेेस करने वाले किसी भी task को मैनेज करने का कार्य कर्नल का होता है|

3 Disk Menegement कर्नल के द्वारा लाइनेक्स ऑपरेटिंग मैं स्टोर किए जाने वाले डाटा EXT-2 , EXT - 3 File सिस्टम के द्वारा मैनेज किया जाता है|


                        *Linux Configuration*


Linux Operating System लाइनेक्स ऑपरेटिंग सिस्टम अलग-अलग configuration के साथ available होता है इसको इंस्टॉल करने के लिए मिनिमम एंड मैक्सिमम हार्डवेयर इस प्रकार होती है|

इस ऑपरेटिंग सिस्टम को कम से कम 4GB हार्ड डिस्क स्पेस के साथ इंस्टॉल किया जा सकता है|

यह ऑपरेटिंग सिस्टम P4 माइक्रोप्रोसेसर minimum capacity को सपोर्ट कराता है| 

Linux File Structure 

लाइनेक्स ऑपरेटिंग सिस्टम के द्वारा डाटा को स्टोर करने के लिए कई प्रकार के file सिस्टम का यूज़ किया जाता है जोकि डाटा को स्टोर करने के लिए responsible होता है|

EXT-2 , EXT-3 

लाइनेक्स फाइल सिस्टम के द्वारा सपोर्ट किए जाते हैं इस ऑपरेटिंग सिस्टम में अलग-अलग डायरेक्टरी का यूज स्पेसिफाई specific files को स्टोर करने के लिए किया जाता है जोकि इस होती है|

Root Directory

यह एक सुपर यूजर डायरेक्टरी होती है जो की सभी यूजर के द्वारा create की गई files को स्टोर कराती है यह Top level Directory होती है जिसमें booting files configuration files exsiputable फाइल इत्यादि स्टोर की जाती है| 

PIN

यह डायरेक्टरी किसी भी exsiputable file को स्टोर कराती है|

Poot Directory 

लाइनेक्स ऑपरेटिंग सिस्टम के द्वारा poot loader को स्टोर करने के लिए इस डायरेक्टरी का यूज किया जाता है|

Dev Directory 

इस डायरेक्टरी में devices फाइल information स्टोर की जाती है सिस्टम के साथ कनेक्ट की जाने वाली प्रत्येक हार्डवेयर devices एक फाइल के रूप में इस डायरेक्टरी मैं स्टोर होती है|

E.T.C Directory

इस फाइल डायरेक्टरी का use Linux ऑपरेटिंग सिस्टम में

Host Computer के द्वारा create की गई files को स्टोर किया जाता है|

Home Directory

यह डायरेक्टरी लाइनेक्स ऑपरेटिंग सिस्टम में प्रत्येक यूजर को इंफॉर्मेशन स्टोर करने के लिए एक home Directory create कराती है|

जिस में व्यक्तिगत रूप से सभी यूजर के द्वारा excess की गई files स्टोर की गई files को save किया जाता है|

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ