COMPUTER HISTORY| कंप्यूटर का इतिहास |कंप्यूटर शब्द की उत्पत्ति कैसे हुई |

 कंप्यूटर शब्द की उत्तपति लैटिन भाषा के कम्पुट  से हुई । कंप्यूटर शब्द का अर्थ है, गणना करना। कंप्यूटर को हिंदी में संगणक भी कहा जाता है। इसके अलावा कंप्यूटर को अभिकालित्र यन्त्र भी कहा जाता है। 


History of computer। कंप्यूटर का इतिहास

कंप्यूटर के इतिहास की बात की जाए तो कंप्यूटर का इतिहास 3000 वर्ष पुराना है जब चीन में गणना यंत्र अबेकस का प्रयोग व्यापारी अपने व्यापारिक घटनाओं को करने के लिए करते थे।


अबेकस एक प्रकार का तारों का फ्रेम होता है।अबेकस के तारों के फ्रेम में छोटे - छोटे मिटटी के गोले पिरोये होते है |जिनके जरिए व्यापारी अपने आर्थिक गणना करते थे।

१८ वी शताब्दी में जर्मन गणितज्ञ विलियम शिकार्ड ने प्रथम यांत्रिक कैलकुलेटर सन 1623 में विकसित किया यह कैलकुलेटर जोड़ने घटाने गुणा भाग में सक्षम था

फ्रांस के गणितज्ञ ब्लेज पास्कल ने एक यांत्रिक अंकीय गणना यंत्र

सन 1642 में विकसित किया गया। इस मशीन को एडिंग मशीन या पास्कलाइन कहते हैं। 


यह मशीन केवल जोड़ या घटा सकती थी।

जेकार्ड लूम jecard loom-

सन 1801 में फ्रांसीसी बुनकर जोसेफ jecard ने कपड़े बुनने के ऐसे लोगों का आविष्कार किया जो कपड़ों में सोता ही डिजाइन य पैटर्न देता था। जिसमें पंच कार्ड पर क्षेत्रों की उपस्थिति अथवा अनुपस्थिति द्वारा धागों को निर्देशित किया जाता था। जैकार्ड के इस लो में दो विचारधाराएं दी जो आगे कंप्यूटर के विकास में उपयोगी सिद्ध हुई पहली यह कि सूचनाओं को पंच कार्ड पर को डेट किया गया।


Charles Babbage's Difference Engine:

  कंप्यूटर के इतिहास में 19वीं शताब्दी का प्रारंभिक समय स्वर्णिम योग माना जाता है अंग्रेज गणितज्ञ चार्ल्स बैबेज ने एक यांत्रिकी गणना मशीन विकसित करने की आवश्यकता महसूस की जब गणना के लिए बनी हुई सारणी यों में त्रुटि आती थी क्योंकि ए टेबल हस्त निर्मित थे इसीलिए इसमें त्रुटि आती थी चार्ल्स babbage ने सन 1822 एक मशीन का निर्माण किया जिसका खर्च ब्रिटिश सरकार ने बहन किया।
उस मशीन का नाम डिफरेंस इंजन रखा गया इस मशीन में गैर सॉफ्ट लगे थे और या भाव से चलती थी
सन 1833 मैं चार्ल्स बैबेज ने डिफरेंस इंजन का विकसित रूप एक एनालिटिकल इंजन तैयार किया इसके द्वारा स्वचालित रूप में परिणाम भी छापे जा सकते थे।
बैबेज़ का कंप्यूटर के क्षेत्र में बहुत योगदान रहा। बेबेज का एनालिटिकल इंजन आधुनिक कंप्यूटर का आधार बना और यही कारण रहा है की चार्ल्स बैबेज को कंप्यूटर का पितामह कहा जाता है बेवर्स के एनालिटिकल इंजन को पहले बेकार समझा गया।
 लेकिन बाद में ada gusta एनालिटिकल इंजन में गणना के विकसित करने में मदद की। इसी कारण ada augasta को पहले प्रोग्रामर का श्रेय माना जाता है इसी आधार पर कंप्यूटर की एक भाषा का नाम ada रखा गया। Ada agusta को ada lovles भी कहा जाता है।
ada augusta 




एक टिप्पणी भेजें

1 टिप्पणियाँ